यदि आप यहाँ पर आये है , तो आप हमारे डिजिटल पत्रिका "सुलेख" का भाग- 1 पढ़ रहे है | यह एक डिजिटल, free ऑनलाइन पत्रिका है, जिसे whatyouremind ब्लॉग वेबसाइट एक subdomain - newsletter.whatyouremind.inऔर "whatyouremind lite" एंड्राइड एप्प पर पब्लिश किया जायेगा | 

सुलेख पत्रिका का उद्देश्य क्या है? 

भारत में इंटरनेट के इस्तेमाल में तेज़ी आई है | यह तेज़ी के कई कारण है | जैसे की 4G का भारत के हर एक क्षेत्र में पहुंचना | Statista के इंटरनेट पर आधारित रिपोर्ट की माने तो भारत में 761 मिलियन लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते है | इससे एक बात तो साफ़ है कि लोग इंटरनेट पर आने के साथ इंटरनेट से जुड़ी ढेरों अन्य सर्विस का भी इस्तेमाल कर रहे है | 

उदाहरण के तौर पर ऑनलाइन  पेमेंट को ही ले लेते है | भारत में डिजिटल करेंसी को नोटबॅंधी के बाद विस्तार मिला है | आज बड़े आईटी कंपनियों के साथ कई बड़े कैपिटल वाले इन्वेस्टरों की नज़र भी भारत के बाज़ार पर है | 

आज भारत में ऑनलाइन पेमेंट के लिए भारत सर्कार का खुद का पेमेंट सिस्टम  UPI है | साथ में कई अन्य प्लेयर जैसे Paytm, PhonePe, GooglePay, Amazon Pay और Instamojo भी पर्सनल और बिज़नेस पेमेंट के लिए चलन में लाये जा रहे है |   

लेकिन लोगों को इसके बारे में सही के जानकारी नहीं है | वे ये नहीं जानते की पेमेंट करने पर उनके डाटा के साथ क्या होगा?

ऐसा पेमेंट मात्र सर्विस में ही नहीं है | भारत के लोगों ख़ास कर नयी युवा पीढ़ी इंटरनेट की जानकारी को रखती है | पर उसे कैसे इस्तेमाल किया जाये, मार्किट में कोनसी सर्विस की क्या अहमियत है, डाटा के प्रति क्या कानून है, इस तरह के ढेरों सवाल का जवाब नहीं जानती | 

इन इंटरनेट और इंटरनेट सर्विस के सुविधा के प्रति जागरूकता को बढ़ाना ही सुलेख का एक मात्र उदेश्य है |